1 मार्च से प्रारंभ होगा विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान

1 मार्च से प्रारंभ होगा विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान

कौशाम्बी 25 फ़रवरी 2020: मौसम में बदलाव शुरू होने के साथ स्वास्थ्य विभाग पूरे जनपद में एक साथ 1 मार्च से 31 मार्च तक विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलाया जायेगा | अभियान के दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम घर घर जा कर लोगों को संचारी रोगों एवं उनसे बचाव की जानकारी देंगी | 10 मार्च से 24 मार्च तक दस्तक अभियान के दौरान फ्रंटलाइन वर्कर्स (आशा, एएनएम, आंगनवाड़ी) कोविड 19 के नियमो का पालन करते हुए संदेश और स्टीकर के जरिए हर घर पर दस्तक दिया जाएगा।
घर और घर के आस पास सफाई रखने से संचारी रोगों से बचाव संभव हैं | आशा एवं आंगनबाडी कार्यकर्ता घर घर जा जाकर लोंगो को हाईजीन के बारे में जागरूक करेंगी और स्वास्थ्य की साफ़ सफाई की महत्वता बतायेंगी |

अभियान के विशेष होंगे ये पांच बिंदु
 बुखार के रोगी
 टी.बी रोगी
 कुपोषित बच्चो की सूची
 जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र
 दिमागी बुखार के कारण दिव्यांग हुए व्यक्तियों की सूची तैयार की जाएगी |

आशा ,ए.एन.एम, एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के सहयोग से स्वास्थ्य विभाग समय से उपचार एवं रेफर करने हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सी.एच.सी) स्तर पर मरीजो की ट्रेकिंग करेगा | आशा मलेरिया बुखार की जाँच करेगी और रोगियों के बुखार की व्यवस्था करेगी | एवं रेफर किये गए रोगियों के लिए निशुल्क परिवहन की व्यवस्था भी उपलब्ध कराएगी | तथा स्वास्थ्य विभाग घनी आबादी वाले क्षेत्रो में लार्वारोधी गतिविधियाँ भी चलाएगा | तथा लोगो को व्यवहार परिवर्तन के लिए जागरूक भी किया जायेगा | अभियान के दौरान आशा आंगनबाड़ी घर घर जाकर संचारी रोगों ( छोटी माता, चेचक, हैजा, डेंगू बुखार, हेपेटाइटिस-ए, हेपेटाइटिस-बी और सी) के प्रति भी जागरूक करेंगी | अभियान के दौरान स्कूलों में प्रार्थना के दौरान संचारी रोगों के बारे में जानकारी दी जाएगी तथा हाईजीन के बारे में जागरूक करेगा |

अरुण पटेल अभियान नोडल व अधीक्षक मंझनपुर ने बताया अभियान की तैयारियां चल रही हैं जनपद स्तरीय टास्क फ़ोर्स बैठक की जा चुकी हैं ब्लाक स्तरीय अन्तर्विभागीय बैठके आयोजित की जा चुकी हैं | जिससे सभी विभाग एक साथ होकर कार्य करे और कार्यक्रम को सफल बनाते हुए एकजुट हो |

बताया कि अभियान के दौरान साफ़-सफाई, कचरा निस्तारण, जल भराव रोकने एवं शुद्ध जल उपलब्धता पर विशेष जोर दिया जायेगा | अभियान को सुचारू रूप से सञ्चालन के लिए अन्य विभागों केसाथ भी समन्वय स्थापित कर अभियान को क्रियावान किया जायेगा | इसी क्रम में विभागीय अधिकारीयों को प्रशिक्षित किया जा रहा हैं ताकि आगे ये अपने क्षेत्र में अन्य स्वास्थ्य कर्मचारियों को प्रशिक्षित कर सके | उन्होंने बताया कि अभियान में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अलावा नगर विकास विभाग, पंचायती राज विभाग, पशुपालन विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, समाज कल्याण विभाग, कृषि एवं सिचाई विभाग और सूचना विभाग को जिम्मेदारी सौपी गयी हैं|

कार्यक्रम संदर्भ में ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों का TOT (प्रशिक्षको का प्रशिक्षण) किया गया | उक्त प्रशिक्षण में ब्लॉक (अधीक्षक),स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी,BPM,BCPM ने प्रतिभाग प्रतिभाग किया ।

Show More

Related Articles