सीरो सर्विलांस – कोरोना से लड़ाई में रोग प्रतिरोधक क्षमता जांचने को सर्वे शुरू

प्रयागराज, 04 जून 2021 : कोविड -19 के प्रसार को ध्यान में रखते हुए जिला स्वास्थ्य विभाग एक बार पुनः जनपदवासियों की रोग प्रतिरोधक क्षमता का आंकलन करने के लिए सीरो – सर्विलांस कर रहा है । इसके लिए वृहस्पतिवार को विभागीय प्रशिक्षण भी दिया गया ।

जिला क्षय रोग अधिकारी व सीरो सर्विलांस के नोडल अधिकारी डॉ. अरुण कु. तिवारी ने बताया कि सी.एम.ओ. डॉ. प्रभाकर राय के निर्देशानुसार वायरस कोविड- 19 के प्रति उत्पन्न हो रही प्रतिरोधक क्षमता के स्तर को परखने के लिए सीरो सर्विलांस किया जा रहा है । इसके परिणाम से कोरोना की रोकथाम और बचाव के लिए भविष्य की योजनायें बनाई जायेंगी । उन्होंने बताया कि इसके लिए जनपद में 10 टीमों का गठन किया गया है । प्रत्येक टीम में चिकित्साधिकारी, लैब टेकनीशियन, ए.एन.एम. और एक आशा कार्यकर्ता को शामिल किया गया है । इसमें ए.एन.एम. डॉक्यूमेंटेशन और आशा मोबिलाइजेशन का काम , लैब टेक्नीशियन सैंपल कलेक्शन का काम कर रहे हैं, साथ ही चिकित्साधिकारी पूरी प्रक्रिया की मॉनिटरिंग कर रहे हैं । इस सर्वे में कोविड पॉजिटिव रह चुके और कोविड से मुक्त दोनों ही व्यक्तियों का रक्त सैंपल लिया जा रहा है। पूरी गतिविधि का अधिकारीयों के माध्यम से निरिक्षण भी किया जा रहा है। इससे पहले माह सितम्बर 2020 में भी सीरो सर्वे किया गया था ।
डी.सी.पी.एम. अशफाक अहमद ने बताया कि जनसमुदाय के छोटे समूहों का निर्धारण क्षेत्र की वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार किया गया है । निर्धारित क्षेत्र को चार हिस्सो में बांटा गया है । हर भाग के छः घरों से 18 वर्ष से अधिक के दो पुरुष व दो स्त्री और 18 वर्ष से कम के दो व्यक्तियों को उसकी लिखित सहमति के बाद एक क्षेत्र से कुल 24 लोगों का समूह तैयार कर नमूने लिए जा रहे हैं । इसमे पुरुष व स्त्री बराबर संख्या में होंगे। पहले से निर्धारित स्थान पर समूह को एकत्र कर प्रशिक्षित लैब टेक्नीशियन सभी व्यक्तियों का रक्त का सैंपल लेता है । इस पूरी प्रक्रिया को बहुत सावधानी से और कोविड -19 की गाइडलाइंस का पालन करते हुए किया जा रहा है । सभी रक्त नमूने सुरक्षित रूप से प्रोटोकॉल का पालन करते हुए के.जी.एम.यू. लखनऊ को भेजे जायेंगे।

Show More

Related Articles