शादी समारोह में ढील से अर्थव्यवस्था का पहिया आएगा पटरी पर साथ ही मिलेगा रोजगार: टेन्ट डेकोरेटर कैटरर्स वेलफेयर एसोसिएशन

शादी समारोह में ढील से अर्थव्यवस्था का पहिया आएगा पटरी पर साथ ही मिलेगा रोजगार: टेन्ट डेकोरेटर कैटरर्स वेलफेयर एसोसिएशन

प्रयागराज : रविवार को टेन्ट डेकोरेटर कैटरर्स वेलफेयर एसोसिएशन के सदस्यों और गेस्ट हाउस मालिकों ने ऑनलाइन बैठक कर टेन्ट व्यवसाय एवं उससे जुड़े लोगों के रोजगार की समस्याओं पर चर्चा की जिसमें इस व्यवसाय से जुड़े लोगों को रोजगार मुहैया हो सके, रविवार को दिन में 11 बजे बैठक शुरू हुई जो एक घंटे तक चली असोसिएशन के सभी पदाधिकारी एवं गेस्ट हाउस मालिकों ने अपनी अपनी बात रखी तथा सरकार से यह मांग की गई कि कोई भी शादी विवाह के कार्यक्रम में लोगों की संख्या को सीमित न करके गेस्ट हाउस या विवाह स्थलों की जगह के अनुसार संख्या को निर्धारित किया जाए।

बड़े कार्यक्रमों एवं शादी समारोह में ढील से अर्थव्यवस्था का पहिया आएगा पटरी पर साथ ही लोगों को मिलेगा रोजगार और सरकार को होगा सहयोग… दिनेश शर्मा ( उपाध्यक्ष इलाहाबाद टेन्ट डेकोरेटर कैटरर्स असोसिएशन) प्रयागराज।

असोसिएशन के उपाध्यक्ष दिनेश शर्मा का कहना है कि इस व्यवसाय से हजारों लोगों का रोजगार चलता है जो कोरोना के समय में आज सबसे बड़ा संकट है,बड़े शादी विवाह के कार्यक्रमों में काम करने वाले लोग आज बेरोजगार हो चुके हैं जिससे उनकी रोजी रोटी का संकट है। शादी समारोह में 100 लोगों की संख्या सीमित कर देने से कोई भी बड़े शुभ कार्य या शादी समारोह नहीं हो पा रहे हैं जिससे इस रोजगार से जुड़े हजारों लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा है उनको अपना परिवार चलाना मुश्किल हो रहा है,अगर हमारी मांगों को पूरा किया जाता है तो देश भर में लोगों को रोजगार के साथ साथ अर्थव्यवस्था का पहिया भी धीरे धीरे पटरी पर आ जाएगा और इससे सरकार को भी सहयोग मिलेगा।

संगठन के सदस्य विपिन अग्रवाल ने कहा कि टेन्ट और डेकोरेशन का काम सिर्फ एक व्यवसाय ही नहीं है बल्कि इससे हजारों लोगों को रोजगार भी मिलता है जो आज के समय में सरकार के सामने भी बड़ी चुनौती है। टेन्ट डेकोरेटर कैटरिंग वेलफेयर एसोसिएशन के आवाहन पर यह असोसिएशन पूरे देश में बैठक कर सरकार से शादी विवाह के कार्यक्रमों में ढील देने की मांग कर रहे हैं। इसी कड़ी में प्रयागराज में भी इलाहाबाद टेन्ट डेकोरेटर कैटरर्स वेलफेयर एसोसिएशन भी लगातार सरकार से शादी विवाह के समारोह को सुचारू रूप से चलाने की अनुमति की मांग कर रहे हैं।

टेन्ट व्यवसायियों का कहना है कि समारोहों में शामिल होने वाले लोगों की संख्या को समारोह स्थलों की जगह के अनुसार निर्धारित कर दिया जाए जिससे बड़े कार्यक्रम भी हो सकेंगे और बड़ी संख्या में देश भर में लोगों को रोजगार भी मिलेगा। बैठक में असोसिएशन के अध्यक्ष बाल कृष्ण अग्रवाल, महामंत्री राम जी,उपाध्यक्ष दिनेश शर्मा, प्रियंक अग्रवाल, बीके शर्मा, राजू सोनकर, मनोज श्रीवास्तव, अनुज माथुर, अमित अग्रवाल, प्रदीप केशरवानी संदीप श्रीवास्तव आदि ने हिस्सा लिया।।

Show More

Related Articles