कोरोना काल में परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों को मिल रही तरजीह

कोरोना काल में परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों को मिल रही तरजीह

प्रयागराज: माँ तथा बच्चे दोनों के उत्तम स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है कि शादी के बाद दम्पत्ति को कब और कितने बच्चे चाहिए इस पर पहले ही विचार करें। बच्चों में अंतर रखने के लिए परिवार नियोजन के कई साधन उपलब्ध हैं जिनमे आई.यू.सी.डी.,अन्तरा, छाया, निरोध, माला-एन गोली आदि मुख्य हैं। स्वास्थ्य विभाग पहले से ही आशा व ए.एन.एम. के माध्यम से परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों को समुदाय तक उपलब्ध कराता रहा है।

परिवार नियोजन के साधन उपलब्ध हो रहा

सी.एम.ओ. डॉ मेजर जी.एस.बाजपेई ने कहा कि कोविड के इस दौर में भी हमारा फोकस परिवार कल्याण के कार्यक्रम पर है और  अस्थाई साधनों पर ज्यादा ध्यान देने की ज़रूरत है। इसी को ध्यान में रखते हुए प्रयागराज के सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर परिवार नियोजन के नये साधनों की शुरुआत की जा रही है ताकि इन सेवाओं तक लाभार्थियों की पहुच आसान हो सके। परिवार कल्याण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी ए.सी.एम.ओ. सत्येन राय ने बताया कोरोना के चलते इस कार्य की रफ़्तार कुछ कम हुई है पर हमारी आशा कार्यकर्त्ता इस दौरान भी समुदाय को घर-घर जाकर जागरूक करने के साथ परिवार नियोजन के साधन भी उपलब्ध करवा रही हैं।

परिवार नियोजन के साधन से अवश्य जुड़े

इसका असर यह है कि अब लोग परिवार नियोजन के लिए स्वयं आगे आ रहे हैं और खासकर महिलाओं में परिवार नियोजन के साधन पसंद किये जा रहे हैं। जनपद में 13 केन्द्रों पर नैदानिक आउटरीच टीम(सी.ओ.टी.) और 7 केन्द्रों पर विभाग द्वारा नियत सेवा दिवस(एफ.डी.एस.) की सेवाएं दी जा रही हैं। हमारा ध्यान परिवार नियोजन की अन्तराल विधियों खासकर अन्तरा, छाया और पी.पी.आई.यू.सी.डी. पर अधिक है, कोशिश है कि कोई भी गर्भवती प्रसव के बाद किसी न किसी परिवार नियोजन के साधन से अवश्य जुड़े और उसका इस्तेमाल करे।

इसके साथ ही प्रत्येक ब्रहस्पतिवार को सभी शहरी और ग्रामीण प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर अन्तराल दिवस भी मनाया जा रहा है जिसमे परिवार नियोजन की सभी सेवाएं दी जा रही हैं। दारागंज शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पुरुष नसबंदी की सेवाएं कोविड के कारण बंद हो गई थी वहाँ 10 सितम्बर से पुनः सेवाएं शुरू हो गई हैं।

अस्थाई साधन   अप्रैल से अगस्त 2020 तक दिए गए साधन

पी पी आई यू सी डी     2570

आई यू सी डी   1861

अन्तरा प्रथम डोज़       948

छाया   6266

माला एन       36003

 निरोध 297518

स्थाई साधन    अप्रैल से अगस्त 2020 तक दिए गए साधन

पुरुष नसबंदी    59

महिला नसबंदी 1237

उम्मीद है इस वर्ष भी हम बेहतर काम करेंगे

परिवार नियोजन और लाजिस्टिक प्रबंधक सचिन चौरसिया ने बताया कि 11 जुलाई से 31 जुलाई के बीच विश्व जनसंख्या स्तिरथा पखवाड़ा में पूरे उत्तर प्रदेश में प्रयागराज कई वर्षों से प्रथम स्थान पर हैं और इस वर्ष कोरोना के बाद भी प्रयागराज 39 पुरुष नसबंदी के साथ प्रथम स्थान पर और 350 महिला नसबंदी के साथ तीसरे स्थान पर है। इसमें हमारी आशा, ए.एन.एम., और चिकित्सकों की मेहनत है। इस साल अप्रैल से अब तक 2570 पी.पी.आई.यू.सी.डी. और 1861 आई.यू.सी.डी. लगाये जा चुके हैं इसमे हंडिया और धनुपुर ने बेहतर काम किया है साथ ही 15397 गर्भ जाँच किट, 6266 सेट छाया गोली वितरित की गई  और 948 अन्तरा की पहली डोज़ दी गई है। अभी तक 1237 महिला नसबंदी व 59 पुरुषनसबंदी हो चुकी है और उम्मीद है इस वर्ष भी हम बेहतर काम करेंगे।

Show More

Related Articles