जीवन की सुरक्षा करना ही सबसे बड़ा कार्य- सी.एम.ओ.

जीवन की सुरक्षा करना ही सबसे बड़ा कार्य- सी.एम.ओ.

खालसा न्यूज़डेस्क/प्रयागराज

प्रयागराज, 29 दिसम्बर 20 – कोरोना टीकाकरण को लेकर सभी ब्लॉकों के कर्मचारियों का प्रशिक्षण हुआ। यह प्रशिक्षण सी.एम.ओ. ऑफिस के सभागार में संपन्न हुआ। प्रशिक्षण में वैक्सीनेशन सेंटर पर कार्ययोजना को लेकर सभी बी.सी.पी.एम., बी.पी.एम. व डेटा ऑपरेटर्स को उनकी व अन्य कर्मचारियों की भूमिका पर प्रशिक्षित किया गया।

मंगलवार को सी.एम.ओ. ऑफिस के सभागार में कोरोना वैक्सीनेशन पर ब्लॉक स्तरीय प्रबंधकों व डेटा ऑपरेटर्स को उनकी व अन्य कर्मचारियों की भूमिका पर एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। इसमें जनपद के सभी ब्लॉकों से कार्यक्रम प्रबंधक, सामुदायिक प्रक्रिया प्रबंधक सहित डेटा ऑपरेटर मौजूद रहें।

सी.एम.ओ. डॉ. प्रभाकर राय ने सभी प्रतिभागियों को कोरोना के टीकाकरण को लेकर विस्तार से जानकारी दी और टीकाकरण की बारीकियों से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि जीवन की सुरक्षा करना ही सबसे बड़ा कार्य है, जिसे हमें बहुत ही गंभीरता और ज़िम्मेदारी के साथ निभाना है। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन सत्र स्थल पर लाभार्थी के अलावा कोई भी अन्य व्यक्ति नहीं जायेगा। वैक्सीनेशन के सह प्रभाव और उसके प्रबंधन पर हमारा पूरा ध्यान है।

इसके लिए आवश्यक सभी कदम उठाये जा रहे हैं। वैक्सीनेशन सामान्य प्रक्रिया है और इसमें बेवजह के भ्रम से बचना चाहिए। प्रथम सत्र में लगभग 25000 स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन किया जायेगा। वैक्सीनेशन सत्र से पहले यह सुनिश्चित किया जायेगा कि वैक्सीनेशन सेंटर पर सभी आवश्यक उपकरण और व्ययस्था पूर्ण हों। प्रशिक्षण में डॉ. रवि कुमार, डॉ. विजय कु. पाठक, डॉ. फ़िरोज़ व डॉ. रितेश मौर्य ने सभी को वैक्सीनेशन की कार्य योजना को लेकर प्रशिक्षित किया। प्रशिक्षित प्रबंधक अपने स्वास्थ्य केन्द्र के अन्तर्गत सभी स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित करेंगे और कार्ययोजना बनायेंगे।

प्रशिक्षण मे टीकाकरण के बाद बायोमेडिकल वेस्ट के प्रबंधन पर भी बताया गया। इसके साथ हे टीकाकरण के बाद लाभार्थी को टीके की जानकारी, 28 दिन बाद अगला टीका लगने की तारीख़, सह प्रभाव जैसे आवश्यक संदेशों के साथ ही एक स्वास्थ्य कर्मी का मोबाइल नं. भी दिया जाएगा जो आपात स्थिति के कम आयेगा। टीकाकरण के बाद भी कोविड-19 प्रोटोकॉल (मास्क, हैण्ड वाशिंग, दूरी) का पालन करना जरूरी होगा। प्रशिक्षण में डी.आई.ओ. डॉ. अमित श्रीवास्तव, ए.सी.एम.ओ. डॉ. अनिल संथानी, डी.पी.एम. विनोद कु. सिंह, डी.सी.पी.एम. अशफ़ाक अहमद, डब्लू.एच.ओ.से डॉ. अलोक कुमर, यूनिसेफ डी.सी. नवनीत कु., यू.एन.डी.पी. से विनोद शुक्ला व अन्य लोग मौजूद रहें। सभी ने प्रशिक्षण में अपने-अपने सत्रों पर चर्चा की।

Show More

Related Articles