प्रयागराज: अपर मुख्य सचिव ने की कोविड-19 की समीक्षा

प्रयागराज: अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश शासन/नोडल अधिकारी, प्रयागराज, डॉ  रजनीश दुबे एवं श्री सुधीर गर्ग, प्रमुख सचिव वन एवं पर्यावरण ने बुधवार को सर्किट हाउस सभागार में जिला एवं मण्डल स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए कोविड-19 की समीक्षा की। बैठक में अपर मुख्य सचिव ने कोविड-19 के संक्रमण को प्रभावी ढंग से रोकने हेतु चलाये जा रहे कार्यक्रमों एवं भर्ती मरीजों के उपचार तथा उनकी देखभाल की समीक्षा करते हुए कहा कि हम सभी पूर्ण प्रयास करें कि कोविड-19 से किसी की मृत्यु न होने पाये।

30 मोबाइल टीम की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये

उन्होंने तेज बहादुर सप्रू अस्पताल में 20 और आईसीयू बेड बढ़ाये जाने तथा रेलवे अस्पताल में कुल 60 बेड में से 30 आईसीयू बेड बनाये जाने और ऑक्सीजन एवं वेंटीलेटर सहित सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित करने और मोबाइल टीम एवं सर्विलांस टीम की संख्या बढ़ाते हुए सैम्पलिंग की संख्या को और बढ़ाये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन लगभग 4000 टेस्टिंग की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये और 17 और मोबाइल टीम बढ़ाकर कुल 30 मोबाइल टीम की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये, कोरोना पॉजिटिव मरीजों के सम्पर्क में आने वाले शत-प्रतिशत लोगो की कान्टैक्ट ट्रेसिंग कर उनकी जांच कराये जाने और कंटेनमेंट जोन का प्रभावी ढंग से अनुश्रवण किए जाने को कहा है। कंटेनमेंट जोन में शत-प्रतिशत नियमित रूप से सैनिटाइजेशन की व्यवस्था सुनिश्चित रहे। उन्होंने नगर आयुक्त को इसकी क्रांस चेकिंग कराये जाने के लिए कहा है।

टेस्टिंग एवं सैम्पलिंग के कार्यों की क्रास चेकिंग भी

अपर मुख्य सचिव ने कहा कि जितना अधिक से अधिक सैम्पलिंग होगी, उतनी ही जल्दी से इसके संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण किया जा सकेगा इसलिए शहर क्षेत्र में सैम्पलिंग का कार्य और प्रभावी ढंग से कराया जाये। उन्होंने टेस्टिंग एवं सैम्पलिंग के कार्यों की क्रास चेकिंग भी कराये जाने के लिए कहा है। अपर मुख्य सचिव ने प्राइवेट अस्पतालों के में मरीजों के भर्ती किए जाने एवं उनकी गम्भीर स्थिति हो जाने पर उनको डिस्चार्ज कर सरकारी अस्पतालों में रेफर किए जाने को गम्भीरता से लेते हुए ऐसे अस्पतालों के विरुद्ध  कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिये है।

आइशोलेशन में रह रहे प्रत्येक व्यक्ति के पास किट

उन्होंने होम आइशोलेशन में रह रहे लोगो का नियमित रूप से अनुश्रवण करने और प्रतिदिन उनसे जानकारी लिए जाने को कहा। होम आइशोलेशन में रह रहे प्रत्येक व्यक्ति के पास शत-प्रतिशत किट की व्यवस्था सुनिश्चित रहे। बैठक में मण्डलायुक्त-श्री आर रमेश कुमार, जिलाधिकारी-श्री भानु चन्द्र गोस्वामी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक-सर्वश्रेष्ठ तिवारी, एसजीपीजीआई मेडिसिन के विभागाध्यक्ष-प्रो0 आर0के0 सिंह, नगर आयुक्त-श्री रवि रंजन, मुख्य विकास अधिकारी-श्री आशीष कुमार, अपर निदेशक स्वास्थ्य, मुख्य चिकित्साधिकारी-श्री जी0एस0 वाजपेयी, मेडिकल कालेज के प्राचार्य-डॉ एस.पी. सिंह, अपर जिलाधिकारीगण एवं स्वास्थ्य विभाग सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Show More

Related Articles