कोविड टीकाकरण आज, समय से पहुंचे : सी.एम.ओ.

कोविड टीकाकरण आज, समय से पहुंचे : सी.एम.ओ.

प्रयागराज, 22 जनवरी 2021-जिले में आज कोविड-19 टीकाकरण हो रहा है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. प्रभाकर राय ने पंजीकृत समस्त स्वास्थ्य अधिकारियों और कर्मचारियों से अपील की है कि वह टीकाकरण केंद्र पर समय से पहुंचें और जिले में टीकाकरण अभियान को शत प्रतिशत सफल बनाएँ।

11 सी.एच.सी. और 12 शहरी क्षेत्र

सीएमओ डॉ. प्रभाकर राय ने बताया कि कोविड -19 टीकाकरण शुक्रवार को सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक किया जा रहा है। इसमें स्वास्थ्य अधिकारियों और कर्मचारियों को कोविड -19 टीका से प्रतिरक्षित किया जाएगा। उन्होने कहा कि कोविन पोर्टल पर पंजीकृत सभी लोग आज टीकाकरण केंद्र पर समय से पहुंचे। क्योंकि टीका की एक शीशी से 10 लोगों को टीका लगता है। शीशी खुलने के बाद एक नियत समय तक ही उसको उपयोग में ला सकते हैं। उन्होने स्पष्ट किया कि कोविड -19 का यह टीका सबसे सुरक्षित टीका है। यह शरीर पर किसी तरह का प्रतिकूल प्रभाव नहीं छोड़ता है। उन्होने बताया कि शुक्रवार को जिले में 23 केन्द्रों पर टीकाकरण सत्र आयोजित किए जा रहे हैं। इनमें 11 सी.एच.सी. और 12 शहरी क्षेत्र के केन्द्र हैं।

डॉ. राहुल सिंह के अनुसार इन तीन दिन के दौरान 135 सत्रों में जनपद के 13557 लोगों को प्रतिरक्षित किया जाना है। 16 जनवरी को जिन लोगों को प्रतिरक्षित किया गया है। उनका अगला डोज 15 फरवरी निर्धारित है। कोरोना का टीका लगने के बाद यदि तबीयत ठीक न लगना, थकान महसूस होना, कंपकंपी या बुखार सा महसूस होना, सिर दर्द, मतली, जोड़ो या मांसपेशियों में दर्द की समस्या आ रही है तो इसका मतलब यह टीका शरीर पर असर कर रहा है।

प्रयागराज के मंडलीय चिकित्सालय “मोती लाल नेहरू” की सी.एम.एस. डॉ. सुषमा श्रीवास्तव को बीते 16 जनवरी को कोरोना का पहला टीका लगा है। कोरोना वैक्सीनेशन पर उन्होंने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा-

“कोरोना का टीका लगवाने के बाद से अब तक मुझे किसी प्रकार की कोई स्वास्थ समस्या नहीं महसूस हुई है। मैं पूरी तरह स्वस्थ हूं। मेरे जानने में जिन भी चिकित्सकों ने टीका लगवाया है उन्हें अभी तक स्वास्थ संबंधी किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं महसूस हुई है। इसलिए कोरोना टीकाकरण पर मेरी ओर से यही संदेश है कि बेफिक्र होकर बिल्कुल निडर होकर कोरोना का टीका लगवाएं। “

टीका लगवाने से पहले दें पूरी जानकारी

टीका लगवाने से पूर्व यदि एलर्जी, बुखार, रक्त बहने या रक्त पतला करने की कोई दवा ले रहे हैं, या प्रतिरक्षा क्षमता कम है तो संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी को जानकारी दें। गर्भवती या स्तनपान करा रही महिलाओं को भी टीका लेने से पहले स्वास्थ्य अधिकारी को पूरी जानकारी देनी चाहिए। सीरम इंस्टीट्यूट की फैक्टशीट के अनुसार कोविशील्ड टीका 18 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए है। यह टीका उन लोगों को नहीं लगना है जिन्हें पहली खुराक के बाद गंभीर रूप से एलर्जी हुई हो। इसके लिए चिकित्सक से परामर्श लें। कोविशील्ड से जुड़े प्रतिकूल प्रभाओं को लेकर सामान्य तौर पर तबीयत ठीक न लगना, थकान महसूस होना, कंपकंपी या बुखार सा महसूस होना, सिर दर्द, मतली, जोड़ो या मांसपेशियों में दर्द की शिकायत आम हो सकती है। वैक्सीन लगने के बाद कुछ घंटों में यदि कोई साइड इफेक्ट दिखता है तो इस बारे में वैक्सीन लगाने वाले को या उपलब्ध कराए गए नंबर पर तत्काल जानकारी दें।

Show More

Related Articles