कोरोना में अपना और अपनों का यूँ रखे खयाल कि न पैदा हो तनाव

प्रयागराज: कोरोना शारीरिक के साथ-साथ मानसिक रूप से भी लोगों को परेशान कर रहा है। लोगों में कोविड-19 से स्वयं और अपने परिवार को बचा कर रखने का दबाव, साथ ही हर दिन बदलती जानकारी और नकारात्मक ख़बरों के कारण भी भय है। ऐसे में घर पर रहकर मानसिक तनाव से बचें के उपाय करना बहुत आवश्यक है। मोतीलाल मण्डलीय चिकित्सालय की नैदानिक मनोवैज्ञानिक डॉ. ईशान्य राज और मनोचिकित्सक डॉ. राकेश पासवान ने वर्तमान में मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर रखने के लिए कई लाभदायक सुझाव बतायें हैं। डॉ. ईशान्य राज कहती हैं कि कोविड-19 के संक्रमण को कम करने के लिए सरकार ने लॉकडाउन किया है। इस कारण लोग अपने घरो में रहने को मजबूर हैं, रोज़गार के साथ ही भविष्य की चिंता भी लोगो में बढ़ रही है। ऐसे में मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर रखना और भी ज्यादा आवश्यक हो जाता है।

लॉकडाउन में घर के सदस्य रखें खयाल –

डॉ. ईशान्य राज ने कहा कि लॉकडाउन में अपनी दिनचर्या को स्वस्थ और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर रखने के लिए घर के सभी सदस्य एक दूसरे का सहयोग करें और सकारात्मक विचार ही रखें। खासकर महिलाओं पर इस समय घर के कार्य का दबाव बहुत अधिक है, पहले महिला दिन-रात काम करती थी तो कुछ देर दिन में आराम कर पाती थी। पर अब हर समय घर के सदस्य कुछ -कुछ मांग करते हैं जिससे महिला रसोईं व अन्य कार्यों में लगी रहती है। इसलिए हर सदस्य को अपनी-अपनी ज़िम्मेदारी लेनी चाहिए और कार्यो को बांटना चाहिए ताकि किसी एक पर कार्य का दबाव न पड़े।

जरूरी बिन्दुओं पर दे ध्यान –

• किसी भी नकारात्मक खबर या घटना को प्रोत्साहन न दें और आपस में साझा न करें, सकारात्मक बाते ही करें।
• यदि घर में बच्चे हैं तो साथ में ग्रुप एक्टिविटी जैसे चित्र बनाना, लूडो या कैरम खेलना, गार्डनिंग करना, कुछ समय के लिए टीवी देखना आदि कर सकते हैं।
• साथ मिलकर पुराने एल्बम देखना, पालतू पशुओं के साथ समय बिताना बेहतर रहेगा।
• यदि कोई नये/पुराने शौक या इच्छा हो तो उसे पूरा करने या नए स्किल्स सीखने में समय बिता सकते है जिसका अच्छा परिणाम भी मिलेगा जैसे- कंप्यूटर सीखना, कोई भाषा सीखना या कोई कलात्मक कार्य करनाI
• सभी एक निश्चित दिनचर्या का पालन करें और कार्य निर्धारित करके उनको पूरा करें।
• भविष्य को लेकर सकारात्मक रहें और आसपास की नकारात्मक घटनाओं को खुद पर हावी न होने देंI
• आसपास जो लोग खासकर वृद्ध, खुद की मदद करने में असमर्थ हैं उनकी मदद करें, जानवरों को खाना दें, इससे आपको भी ख़ुशी मिलेगी।

डॉ. राकेश पासवान ने कहा 

बहुत सी ऐसी छोटी-छोटी बातें है जिन पर ध्यान दे कर हम मानसिक तनाव को कम कर सकते है और स्वास्थ्य को बेहतर रख सकते हैं । अच्छे मानसिक स्वास्थ्य के लिए योग और प्राणायाम बहुत ही लाभदायक होता है। इसलिए परिवार के सदस्य साथ मिलकर योग, प्राणायाम या व्यायाम करें, इससे लाभ मिलेगा और छोटे बच्चों को भी इसका अभ्यास करवायें ताकि वह भी भविष्य में मानसिक रूप से मज़बूत बन सकें। सदैव खुश रहने की कोशिश करें। परिस्थिति कैसी भी हो, इसके लिए अपनों के साथ बैठ कर जीवन के ख़ुशी भरे पलों को याद कर सकते हैं जो आपको एक सकारात्मक आशा से भर देगा।

Show More

Related Articles