इस दिन भारतीय श्रद्धालुओं के लिए खुलेगा करतारपुर कॉरिडोर

भारतीय सिख समुदाय के लोगों के लिए खुशखबरी है। भारतीय सिख तीर्थयात्रियों के लिए करतारपुर कॉरिडोर 9 नवंबर को खोला जाएगा. पाकिस्तान के एक अधिकारी ने इसका ऐलान किया.

खालसा न्यूज डेस्क/ पाकिस्तान

भारतीय सिख समुदाय के लोगों के लिए खुशखबरी है। भारतीय सिख तीर्थयात्रियों के लिए करतारपुर कॉरिडोर 9 नवंबर को खोला जाएगा. पाकिस्तान के एक अधिकारी ने इसका ऐलान किया. लाहौर से लगभग 125 किलोमीटर दूर नरोवाल में प्रस्तावित करतारपुर कॉरिडोर के लिए स्थानीय और विदेशी पत्रकारों की पहली यात्रा के दौरान इसकी घोषणा की गई.

परियोजना निदेशक आतिफ माजिद ने पत्रकारों को बताया कि अब तक कॉरिडोर पर 86 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है और इसे 9 नवंबर को खोला जाएगा.

बता दें इससे पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉक्टर मोहम्मद फैसल ने कहा था कि पाकिस्तान सरकार करतारपुर कॉरिडोर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति से सुविधा शुल्क लेगी. यह रकम 20 यूएस डॉलर के बराबर होगी. पाकिस्तान ने भारत के सामने पहले भी तीसरे चरण की बैठक के दौरान यह मांग रखी थी.

पाकिस्तान ने साफ किया है कि यह सर्विस फीस होगा न कि प्रवेश शुल्क. माना जा रहा है कि यह सुविधा शुल्क पानी, दवाई और अन्य सुविधाओं के लिए ली जा रही है. पाकिस्तान श्रद्धालुओं के बीच बंटने वाले प्रसाद और लंगर के लिए भी जरूरी इंतजाम के लिए हाल ही में सहमत हुआ था. दोनों देश यात्रियों को सुरक्षित और सौहार्द्रपूर्ण माहौल मुहैया कराने पर दोनों देश सहमत हैं.

करतारपुर गलियारे को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच तीसरे दौर की बातचीत के बाद पाकिस्तान ने साफ किया था कि वह बाबा गुरु नानक के प्रकाशोत्सव पर गलियारे को सिख तीर्थयात्रियों के लिए खोल देगा. साथ ही कहा है कि अपने ‘पूरे न होने वालों कामों के लिए भारत खुद जिम्मेदार होगा.’

Show More

Related Articles