स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम अधिकारियों की हुई बैठक

स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम अधिकारियों की हुई बैठक

खालसा न्यूज़डेस्क/प्रयागराज

प्रयागराज : जनपद में एक मार्च से शुरू होने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान को सफल बनाने के लिए कई विभाग मिल कर काम करेंगे। अभियान को लेकर स्वास्थ्य विभाग अन्य विभागों से समन्वय स्थापित कर उनका संवेदीकरण कर रहा है। इसी क्रम में मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के अधिकारियों के बीच बैठ की गई।

विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान में स्वास्थ्य विभाग नोडल विभाग के रूप में कार्य कर रहा है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. प्रभाकर राय के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने नगर निगम अधिकारियों के साथ अभियान पर संवेदीकरण और रणनीति पर चर्चा के लिए बैठक की। मंगलवार को नगर निगम कार्यालय में हुई इस बैठक की अध्यक्षता नगर स्वास्थ्य अधिकारी उत्तम वर्मा ने की। बैठक में नगर निगम के मुख्य सफाई एवं खाद्य निरीक्षक और सफाईकर्मियों ने प्रतिभाग किया।

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी व वेक्टर बॉर्न डिजीज के नोडल डॉ. ओ.पी. भास्कर ने बैठक प्रारम्भ करते हुए अभियान के दिशा निर्देशों से सभी को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि एक मार्च से अभियान का शुभारम्भ होना है। इसके लिए कार्य योजना बनाकर कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। उन्होंने उपस्थित सभी कर्मचारियों को निर्देशित करते हुए अपने कार्यक्षेत्र में अभियान चलाते हुए कार्य करना सुनिश्चित करने को कहा।

जिला मलेरिया अधिकारी के.पी.द्विवेदी ने बताया कि अभियान में फ्रंटलाइन वर्कर्स, आशा और आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों को भी शामिल किया गया है। सभी कर्मचारी संचारी रोग नियंत्रण अभियान और दस्तक अभियान में सहयोग करेंगे। शहरी क्षेत्रों में अभियान को सफल बनाने में नगर निगम की भी अहम् भूमिका हैI

अभियान के अन्तर्गत नगम निगम स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से विभिन्न कार्य करेगी। इसमें चुने हुए जन प्रतिनिधियों का संचारी रोगों की रोकथाम तथा साफ-सफाई के प्रति संवेदीकरण करना, विशेष साफ-सफाई, नालियों में एंटी लार्वा के छिड़काव का कार्य, वातावरण तथा व्यक्तिगत स्वच्छता के उपाय, खुले में शौच न करने, शुद्ध पेयजल उपयोग, मच्छरों की रोकथाम हेतु जागरूकता अभियान संचालित करना, अभियान के दौरान खुली नालियां ढंकने व कचरे की सफाई और कार्ययोजना अनुसार विशेष फागिंग का कार्य किया जायेगा।

जल निगम/ जल कर विभाग हैण्ड पम्पो के आस-पास सोकपिट का निर्माण, शुद्ध पेयजल की उपलब्धता के लिए हैण्ड पम्प की रीबोरिंग और पेयजल की गुणवत्ता की जाँच, जल भराव रोकने के लिए पेवमेंट का निर्माण आदि कार्य करेगी।

Show More

Related Articles