सीएम ने उम्भा गांव में 35 योजनाओं का किया लोकार्पण और शिलान्यास, बोले- कांग्रेस के पाप के लिए माफी मांगें प्रियंका 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोनभद्र के उम्भा गांव में शुक्रवार को सोनभद्र के विकास के लिए 340 करोड़ों रुपए की लागत वाली 35 योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने इस मौके पर विभिन्न योजनाओं से संबंधित लाभार्थियों को प्रमाण पत्र भी वितरित किया।

खालसा न्यूज डेस्क / सोनभद्र  

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोनभद्र के उम्भा गांव में शुक्रवार को सोनभद्र के विकास के लिए 340 करोड़ों रुपए की लागत वाली 35 योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने इस मौके पर विभिन्न योजनाओं से संबंधित लाभार्थियों को प्रमाण पत्र भी वितरित किया।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि “मैं प्रियंका से पूछना चाहता हूं कि उनकी पार्टी ने जिस तरह से गरीबों को उनके अधिकारों से वंचित रखा क्या वो माफी मांगेंगी।“ उन्होंने कहा कि उम्भा में जो दुखदायी घटना हुई, उसके लिए कांग्रेस ही जिम्मेदार है। कांग्रेस के शासनकाल के दौरान ग्रामीणों की भूमि को स्मारक बनाकर छीन लिया गया था। यह कांग्रेस का पुराना पाप है, जिसे हमारी सरकार सुधार रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 17 जुलाई सोनभद्र और पूरे प्रदेश के लिए एक बहुत दर्दनाक घटना के लिए जाना जाएगा। जब एक साथ यहां पर 10 लोगों की निर्मम हत्या कर दी गई थी। तब हमने कहा था कि इस घटना के तह तक जाएंगे और जो भी इस घटना का जिम्मेदार होगा उन सभी दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करेंगे। हमने जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई की है।

योगी ने कहा कि मेरी पूरी संवेदना उन पीड़ितों के प्रति है, जिन्होंने अपने परिवार के सदस्यों को खोया है। सरकार आपको आश्वस्त करती है कि सरकार इस विपत्ति के समय में आपके साथ खड़ी है और आगे भी आप की खुशहाली के लिए सरकार हर समय तत्पर रहकर कार्य करेगी।

योगी ने कहा कि 2014 में जब प्रधानमंत्री मोदी ने देश की बागडोर अपने हाथ में ली थी तो उन्होंने एक नारा दिया था कि “सबका साथ सबका विकास”। प्रधानमंत्री मोदी ने 5 वर्ष में निरंतर बिना भेदभाव के शासन की योजनाएं समाज के प्रत्येक तबके तक पहुंचाने का कार्य किया। आज जब हर गरीब के पास अपना सर ढकने के लिए छत है, हर गरीब के पास स्वस्थ्य रहने के लिए और महिला गरिमा के सम्मान की रक्षा करने के लिए अपना शौचालय है। विद्युत कनेक्शन है। भोजन बनाने के लिए रसोई गैस है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 1952 से 1955 के बीच में आपके हक को छीनने का कार्य कांग्रेस ने किया था। कांग्रेस ने लोगों के हक पर डाका डाला, लोगों को बंधुआ मजदूर बनाकर रखने का पाप कांग्रेस ने किया। कांग्रेस के पाप का परिमार्जन करने के लिए आज हम सब आपके बीच में आए हैं। कांग्रेस ने जो पाप किया, उसकी सजा देश ने कांग्रेस को दी है।

योगी ने कहा कि कांग्रेस, सपा और बसपा ने आपकी आवाज को दबाया। आपकी जमीनों पर कब्जा किया। सूबे में जब हमारी सरकार आई तो हर गरीब की सुनवाई हो रही है। हर गरीब को उसकी जमीन वापस होगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के एक नेता ने उम्भा के लोगों की जमीन हड़पने का पाप किया। आजादी से पहले और आजादी के बाद जो लोग मालिक थे उन्हें मालिक ना बना करके भूमिहीन बना दिया गया। उन्होंने यहां पर साजिश करके एक फर्जी कृषि समिति बनाकर उम्भा के गरीबों के हक को छीनने का कार्य किया। आप लोगों को मालिक से मजदूर बनाने का कार्य किया था। उन्होंने कहा कि गरीबों के हक पर डकैती डालने वाले लोगों को बेनकाब करने के लिए सरकार ने एक कमेटी गठित की है। कमेटी की रिपोर्ट आने दीजिए, बहुत बड़ी कार्यवाही होगी।

योगी ने कहा कि सोनभद्र जनपद में एक नई तहसील का गठन होगा। उम्भा गांव में पुलिस चौकी भी बनेगी। कस्तूरबा बालिका विद्यालय स्थापित किया जाएगा। उम्भा के सभी लोगों को भूमि का पट्टा सरकार करेगी। भूमि का पट्टा करते हुए गरीबों को आवास योजना से आच्छादित किया जाएगा। गरीबों को पेंशन की योजना से आच्छादित कर उन्हें लाभान्वित किया जा रहा है।

इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 281 लाभार्थियों को 852 बीघा भूमि का पट्टा उनके नाम किया। उन्होंने कहा कि 292 परिवारों को मुख्यमंत्री आवास योजना से आवास उपलब्ध करा रहे हैं। 11 मृतकों के वारिसों को 18 लाख 50 हजार के हिसाब से सहायता राशि दी गई है। निराश्रित महिला पेंशन की स्वीकृति पहले ही दी जा चुकी है। 20 घायलों को 6 लाख के हिसाब से सहायता राशि पहले ही स्वीकृत की जा चुकी है।

सोनभद्र के उम्भा में आयुष्मान भारत की योजना से वंचित रहने वाले लोगों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में आच्छादित करने के लिए 510 आयुष्मान भारत के गोल्डन कार्ड ग्राम पंचायत में जारी किए गए और 201 मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से गोल्डन कार्ड जारी किए जा रहे हैं। उम्भा गांव में समस्त घरों को विद्युतीकरण से संतृप्त करने के लिए जहां हमारी सरकार बिजली की लाइन पहुंचा रही है, वहीं जहां पर बिजली की लाइन नहीं है, वहां पर सोलर पैनल लगा कर लोगों को बिजली देने का कार्य करेंगे। यहां के पहाड़ी टोला में 23 लाख 54 हजार की लागत से सोलर मिनी पेयजल की योजना भी शुरू हुई है।

Show More

Related Articles