मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ली सेल्फी

14 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित कार्यक्रम का जायजा लिया

 

कानपुर : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को कानपुर पहुंचे। उन्होंने यहां 14 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित कार्यक्रम का जायजा लिया और अफसरों को कोई कोर कसर न छोड़ने की हिदायत दी। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी ने मोटर बोट सीसामऊ नाले का निरीक्षण किया और मौके को यादगार बनाने के लिए तट पर सेल्फी भी ली। सीएम की सेल्फी सोशल मीडिया पर वायरल है। उसके बाद एशिया के सबसे बड़ा यह नाला सेल्फी प्वॉइंट बन गया है।
14 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कानपुर दौरा प्रस्तावित दौरा है। उससे पहले गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गंगा बैराज पहुंचे। यहां पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से बनाए गए अटल घाट का निरीक्षण करने के बाद सीएम मोटर बोट से सीसामऊ नाला पहुंचे। जहां उन्होंने सेल्फी लेकर इसे सेल्फी प्वॉइंट नाम दिया। नमामिगंगे परियोजना के तहत बना अटल घाट कानपुर का सबसे बड़ा पिकनिक स्पॉट बनेगा। कानपुर में सीसामऊ नाला एशिया के सबसे बड़ा व 128 साल पुराना है। नमामि गंगे परियोजना के तहत इसे साफ किया गया है।
प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्षों बाद कानपुर में गंगा की धारा अविरल और निर्मल हो गई। यहां का पानी आचमन योग्य हो गया। जलीय जीव पुनर्जीवित हुए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा से यह संभव हुआ है। गुरुवार को मुख्यमंत्री ने अटल घाट से स्टीमर पर सवार होकर गंगा का हाल जाना। करीब तीन किलोमीटर तक स्टीमर से निरीक्षण किया। नालों की टैपिंग, सीवरेज की स्थिति और पानी की शुद्धता परखी।
डायवर्ट और टैप किए जा चुके एशिया के सबसे बड़े गंदे नाले पर सेल्फी लेने के बाद कानपुर में पहली बार मीडिया से बात की। योगी ने कहा कि कानपुर के लगों को इस बात का मलाल रहता था कि यहां गंगा में सबसे ज्यादा प्रदूषण है। कानपुर का प्रदूषण आगे के शहरों में भी गंगा की सेहत खराब कर रहा था। इस बात का हमें गर्व है कि प्रधानमंत्री की प्रेरणा से आज गंगा का पानी शुद्ध हो गया। कोई भी यहां आकर देख सकता है। आप खुद पानी की शुद्धता देख सकते हैं।
128 वर्षों पुराना सीसामऊ नाला पूरी तरह टैप किया जा चुका है। नाले का सीवर डायवर्ट कर एसटीपी तक पहुंचाया गया है। कभी जाजमऊ में सबसे ज्यादा प्रदूषण होता था। गंगा का पानी काला पड़ गया था और जलीय जीव तक नष्ट हो गए थे। आज स्थिति यह है कि जाजमऊ में जलीय जीव मछलियां पुनर्जीवित हो गई हैं। यह पानी की शुद्धता का प्रमाण है।
योगी ने कहा कि 14 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब तक हुए कार्यों की समीक्षा करेंगे। साथ ही आगे के लिए मार्गदर्शन करेंगे। उनके दिशा निर्देशन में गंगा की अविरलता, निर्मलता पर काम जारी रहेगा।

Show More

Related Articles