महिलाओं को भयमुक्त वातावरण देने के लिए केंद्र व राज्य सरकार प्रतिबद्ध :सिद्धार्थ नाथ सिंह

महिलाओं को भयमुक्त वातावरण देने के लिए केंद्र व राज्य सरकार प्रतिबद्ध :सिद्धार्थ नाथ सिंह

प्रयागराज  :अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर सोमवार को जनपद के सीएवी इण्टर कालेज में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान देने वाली महिलाओं व बालिकाओं को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने दीप प्रज्ज्वलन कर किया। इसके बाद उन्होने विभिन्न विभागों के स्टॉल पर जाकर उनकी योजनाओं व व्यवस्थाओं का जायजा लेने के साथ बेहतर प्रदर्शन के लिए प्रोत्साहित किया।

कार्यक्रम के दौरान प्रांगण में ऑनलाइन माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के जरिए महिलाओं और बेटियों के उत्कृष्ट कार्यों को उल्लेखित करते हुए उनके हौसले को सराहा। इसके बाद जनपद के विभिन्न विभागों में नवाचार व अच्छा कार्य करने वाली महिलाओं को विशिष्ट अतिथियों ने सम्मानित किया । महिला शक्ति के संदेशों से जुड़े हुए अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी हुआ। कार्यक्रम में जिलाधिकारी, समेत विभिन्न विभागों के आला अफसरों के साथ मंच पर सांसद भी मौजूद रहे। कार्यक्रम का निर्देशन सीडीओ प्रयागराज के मार्गदर्शन में आयोजित हुआ। इस कार्यक्रम को मिशन शक्ति के दूसरे चरण के आगाज के रूप में भी देखा जा रहा है।

इस मौके पर सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि महिलाओं को भयमुक्त वातावरण देने के लिए केंद्र व राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। प्रयागराज को सेफ सिटी परियोजना के अंतर्गत जोड़ा गया है। इससे महिलाओं की सुरक्षा व स्वलम्बन को बढ़ावा मिलेगा। इस परियोजना के तहत बसों में सीसीटीवी कैमरे,शहर के विभिन्न क्षेत्रों में महिला सुरक्षा के लिए पिंक बूथ जहां 1090 वीमेन पावर लाइन व 112 पर दर्ज शिकायतों का निस्तारण होगा। शहर के डार्क स्पाटस को चिन्हित कर स्ट्रीट लाइट को हाइटेक किया जाएगा व महिला पुलिस कर्मियों के लिए टू व्हीलर पिंक पेट्रोल बाइक का प्रबंध भी किया जाना है।

इसके साथ ही महिलाओं के लिए हर प्रकार की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए समय समय पर इसकी समीक्षा की जाएगी। हमारे घर की चाबी महिलाओं के हाथ में होती है। यह कितने गर्व का विषय है कि प्रयागराज की चाबी महापौर अभिलाषा गुप्ता के पास है,राज्य की चाबी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के पास है,अर्थव्यवस्था की चाबी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पास है। बेटियां ही भारत का भविष्य हैं । यह मिशन शक्ति शारदीय नवरात्र से आरम्भ होकर वासंतिक नवरात्र तक चलेगा। महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान व सशक्तिकरण के लिए प्रदेश सरकार संकल्पित है। प्रदेश सरकार की बेटियों व महिलाओं के लिए चलायी जा रहीं कल्याणकारी योजनाओं से भ्रूण हत्या जैसे मामलों में बहुत कमी आयी है।

महिलायें राजनैतिक दृष्टि से भी प्रबल है। महिलायें हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है। बेटियों को पिता की सम्पत्ति में हिस्सेदारी का पूरा हक दिलाया जायेगा। प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को रजिस्ट्री शुल्क में छूट देने का प्रावधान किया गया है। सरकारी नौकरियों में 20 प्रतिशत आरक्षण दिया जा रहा है। महिलाओं को स्वावलम्बी बनाने के लिए शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से उनकी आजीविका सम्वर्धन हेतु वृहद अभियान चलाया जा रहा है। सरकार द्वारा कृषि यंत्रों पर महिला कृषकों को 10 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट दी जा रही है। प्रत्येक जिला मुख्यालयों में महिलाओं को चिकित्सीय सहायता, पुलिस सहायता, विधिक सहायता, स्वरोजगार प्रशिक्षण, आश्रयगृह सुविधायें देने के लिए कृतसंकल्पित है।

कार्यक्रम में कृषि विभाग, पंचायतीराज विभाग, युवा कल्याण विभाग बेसिक शिक्षा विभाग, जिला उद्योग विभाग, परिवहन विभाग, शिक्षा विभाग, आईटीआई, उपायुक्त स्वतः रोजगार, डूडा, दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग, अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, समाज कल्याण विभाग, महिला कल्याण विभाग, उद्यान विभाग, नेडा, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग, सांस्कृतिक विभाग एवं श्रम विभागों के अधिकारीगण व कर्मचारीगण उपस्थित रहे ।

इस अवसर पर बारा विधायक अजय भारती, विधायक शहरी उत्तरी हर्षवर्धन वाजपेयी, रेखा सिंह, महिला आयोग की सदस्य ऊषारानी, अनीता सचान, एडीजी जोन प्रेम प्रकाश, मण्डलायुक्त संजय गोयल, आईजी के0पी0 सिंह, जिलाधिकारी भानु चन्द्र गोस्वामी, डीआईजी/एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी, मुख्य विकास अधिकारी शिपू गिरि सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Show More

Related Articles