गर्भवती महिलाएँ बढ़ाएँ अपनी प्रतिरोधक क्षमता

कोरोना वैश्विक बीमारी के दौर में गर्भवती महिलाओं को अपने स्वास्थ पर ध्यान देने की खास तौर पर जरूरत है। गर्भवस्था के दौरान शरीर में समय समय पर कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं। साथ ही उनकी रोग प्रतिरोधक

प्रयागराज: कोरोना वैश्विक बीमारी के दौर में गर्भवती महिलाओं को अपने स्वास्थ पर ध्यान देने की खास तौर पर जरूरत है। गर्भवस्था के दौरान शरीर में समय समय पर कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं। साथ ही उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती जाती है, ऐसे में गर्भवती महिला के लिए कोविड-19 का संक्रमण खतरनाक साबित हो सकता है।

इसलिए महिलाओं को चिकित्सकों की सलाह व सरकार द्वारा जारी निर्देशों को ध्यान देना बेहद जरूरी हो जाता है। परिवार कल्याण नोडल ए.सी.एम.ओ. सत्येन राय ने बताया की ‘गर्भवती महिलाओं को अपने टीकाकरण व जांच नियमित समय पर कराते रहना चाहिए। वह अपने क्षेत्र की आशा व एएनएम के संपर्क में रहें। कोरोना से संबन्धित स्वास्थ विभाग की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का पालन करें। इसके साथ ही परिवार को गर्भवती महिलाओं की देखभाल और उनके खान-पान का खास ध्यान रखने की ज़रूरत है। ताकि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर रहे।

इसके लिए उन्हें शुरुवाती समय से ही प्रोटीन, विटामिन, हाई फाइबर व मिनरल्स आदि से युक्त संतुलित भोजन का सेवन करना चाहिए। विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ जैसे नींबू, संतरा, मोसम्बी, टमाटर, मौसमी फल, अखरोट, बादाम व सुपर फूड जैसे हल्दी, अदरख, लहसुन आदि का सेवन बहुत जरूरी है। भोजन बनाते समय फलों व सब्जियों को हल्के गरम पानी में अच्छे से धो लें। ताजा खाना ही खाएं। गुनगुने पानी का सेवन करें। कैफिन युक्त पदार्थ जैसे चाय , शराब, तम्बाकू जैसे अन्य नशीले पदार्थों का सेवन ना करें। यदि बुखार, खांसी या सांस लेने में कठिनाई हो तो डॉक्टर से परामर्श लें। बिना डॉक्टर के निर्देश के कोई दवा ना लें।

Show More

Related Articles