उन्नाव कांड: जिंदगी की जंग हार गई बहादुर लड़की

रात करीब 11:10 पर पीड़िता के हृदय ने काम करना बंद कर दिया

 

नई दिल्ली : उन्नाव रेप पीड़िता आखिरकार जिंदगी की जंग हार गई। वह बहादुर थी लेकिन दरिंदों ने हैवानियत की सारी हदें पार कर दीं थीं, वह इतनी बुरी तरह जल चुकी थी जिंदगी डोर उसकी टूट गई. और शुक्रवार देर रात 11: 40 पर सफदरजंग अस्पताल में उसकी मौत हो गई | जिसकी जानकारी पीड़िता की बहन ने दी | अस्पताल के बर्न और प्लास्टिक सर्जरी विभाग के एचओडी डॉ. शलभ कुमार ने पीड़िता के निधन की पुष्टि करते हुए कहा कि रात करीब 11:10 पर पीड़िता के हृदय ने काम करना बंद कर दिया | डॉक्टरों की तमाम कोशिशों के बावजूद उसकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ और 11:40 पर उसका निधन हो गया | इससे पहले डॉक्टरों ने देर शाम को मेडिकल बुलेटिन जारी करते हुए कहा था की पीड़िता के शरीर के आंग काम करना बंद कर चुके है और उसे बचा पाना मुश्किल है |
अस्पताल के बर्न एवं प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार ने बताया, ‘हमारे बेहतर प्रयासों के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका | शाम में उसकी हालत खराब होने लगी | रात 11 बजकर 10 मिनट पर उसे दिल का दौरा पड़ा | हमने बचाने की कोशिश की लेकिन रात 11 बजकर 40 मिनट पर उसकी मौत हो गई |

Show More

Related Articles